इस ब्लॉग पर पोस्ट की गयी तस्वीरों (Photographs) पर क्लिक कर के आप उन्हें और स्पष्ट देख सकते हैं।

Wednesday, 27 August 2014

फेसबुक 24 अगस्त 2014

फोटो पर क्लिक कर के स्पष्ट देख सकते हैं

https://www.facebook.com/photo.php?fbid=1512149909026052&set=a.1377840199123691.1073741828.100006931712592&type=1&theater
--------------------------------------------------------------------------------------------------------
इस दुनिया मे यूं तो कोई किसी को याद नहीं रखता लेकिन कहीं कोई ऐसा भी होता है जो समय के लंबे पलों के बाद भी आपको उसी तरह याद रखता है जैसे आप उसके अपने हों।Ashish Rastogi जी ऐसे ही गिनती के लोगों मे से हैं ।
इनसे मेरी सबसे पहली मुलाक़ात मेरठ मे तब हुई थी जब मैं बिग बाज़ार के कस्टमर सर्विस पर था और वह आंटी जी के साथ कुछ सामान एक्सचेंज करने के लिए आए थे। पता नहीं मेरे काम मे ऐसा क्या दिखा कि वहाँ कि कस्टमर फीडबैक बुक पर यह शब्द लिखे--"Thanks Yashwant for his eagerness to help. God bless." (मुझे यह शब्द हू ब हू याद हैं क्योंकि मेरे कैरियर का यह सबसे पहला रिमार्क था जो एक कस्टमर के तौर पर उन्होने मेरे लिये लिखा था  )
स्टोर के ओफर्स मे रुचि देख कर मैंने खास खास ओफर्स के बारे मे आशीष जी को फोन पर भी बताना शुरू कर दिया और बाद मे मेरा ट्रांसफर कानपुर हो जाने से मेरा संपर्क कट गया 
2010 मे नौकरी छोड़ देने के बाद मैंने ब्लोगिंग मे भी हाथ आजमाना शुरू कर दिया और फिर एक दिन ब्लॉग पर आशीष जी का वह कमेन्ट आया जो आप इस फोटो मे देख सकते हैं।
यह कमेन्ट मेरे ब्लॉग का सब से कीमती कमेन्ट है जो हमेशा मुझे याद दिलाता है कि सालों पहले मॉल मे काम करने वाले मुझ जैसे एक अदने से इंसान को भी कोई याद रख सकता है।
मेरी कामना है आशीष जी का आशीष मेरे साथ, और ऊपर वाले का आशीष, आशीष जी के साथ हमेशा बना रहे।
----------------------------------------------------------------------------------------------------------

No comments:

Post a Comment

कृपया किसी प्रकार का विज्ञापन कमेन्ट मे न दें।
कमेन्ट मोडरेशन सक्षम है। अतः आपकी टिप्पणी यहाँ दिखने मे थोड़ा समय लग सकता है।

Please do not advertise in comment box.
Comment Moderation is active.so it may take some time for appearing your comment here.